राज्य में डिप्लोमा स्तर की तकनीकी शिक्षा के विकास व संचालन हेतु राज्य सरकार  के आदेश क्रमांकःडी-6320/एफ.3(487)शिक्षा/गप-2/56 दिनांक 17 अगस्त 1956 द्वारा प्राविधिक शिक्षा निदेशालय की स्थापना की गई, जिसका मुख्यालय जाधपुर में है। निदेशालय में निदशक(शिक्षा) (पॉलीटेक्नीक हेतु) व निदेशक (प्रशिक्षण) (आई.टी.आई.हेतु) कार्यरत है।  

      राज्य सरकार की अधिसूचना30(4)श्र.नि./15 दिनांक 04.08.2015 द्वारा राजस्थान में युवाआ के लिये कौशल प्रशिक्षण, नियोजन व उद्यमिता से सम्बन्धित विभिन्न योजनाओं/ कार्यक्रमों/ अभिकरणों/मिशन/अधिनियमों व नियमों क क्रियान्वयन को बेहतर समन्वय के साथ गति दन के लिये ’’कौशल, नियोजन व उद्यमिता विभाग’’ की स्थापना की माननीय राज्यपाल की ओर से एतद्् द्वारा स्वीकति प्रदान की गयी है। निदेशक (प्रशिक्षण) (आई.टी.आई.) के अधीन किये जाने वाले कार्य इस नवगठित विभाग के अधीन किये गये एवं कौशल, नियोजन एंव उद्यमिता विभाग के विभागाध्यक्ष ’आयुक्त’ कौशल, नियोजन व उद्यमिता है। इस आयुक्तालय का मुख्यालय, जयपुर के झालाना संस्थानिक क्षेत्र में स्थित कौशल भवन परिसर में है।  

        नवगठित ’’कौशल, नियोजन व उद्यमिता विभाग’’ के अन्तर्गत तकनीकी शिक्षा(प्रशिक्षण) अर्थात्् आई.टी.आई. का मुख्य उद्देश्य आधुनिक प्रौद्योगिकी के अनुरूप दस्तकार प्रशिक्षण से प्रशिक्षित कर तकनीकी प्रशिक्षित जनशक्ति उपलब्ध कराना है एवम्् शिक्षुता प्रशिक्षण योजना के तहत राजकीय व निजी क्षेत्र के औद्योगिक प्रतिष्ठानों में छात्रों को अप्रेन्टिसशिप एक्ट 1961 के प्रावधानां के अन्तर्गत प्रशिक्षण दन की व्यवस्था कराना है।